कॉमेडियन संजय महानंद पेश किए दोस्ती की मिसाल Sanjay Mahanand News 

संजय महानंद

कॉमेडियन संजय महानंद पेश किए दोस्ती की मिसाल

दोस्ती हमारे जीवन का वह अनमोल रिश्ता है जिसकी मिसाल बने भोजपुरी सिनेमा के मशहूर कॉमेडियन संजय महानंद। इनकी दोस्ती का सच्चाई और गहराई यह साबित करते हैं कि असली दोस्त वही होता है जो जीवन के अंत तक आपके साथ खड़ा रहता है।

संजय महानंद और उनके प्रिय मित्र

अपने प्रिय मित्र निशांत उपाध्याय के निधन के बाद भी संजय महानंद ने अपनी दोस्ती को निभाने का एक अद्वितीय तरीका चुना। वह एक साल तक अपने दोस्त की याद में अपने फेसबुक प्रोफ़ाइल चित्र नही बदले बदलते अपने दोस्त की फोटो लगा कर एक साल तक रखा। यह एक बहुत ही अद्वितीय और गहरा प्यार का प्रकटीकरण है जिससे दिखता है कि संजय महानंद ने अपने दोस्त की याद में अपने दिल को संभाला है।

संजय महानंद ने दोस्ती के महत्व को अपने कार्यों के माध्यम से प्रदर्शित किया है। उन्होंने निशांत उपाध्याय की याद में गरीब असहाय लोगों के लिए भंडारा करवाया है, जहां उन्होंने खाना बांटा है और उनकी सेवा की है। यह एक मानवीय और दयालु कार्य है जो दोस्ती की महत्वपूर्ण भूमिका को दिखाता है।

इसके अलावा, जब निशांत उपाध्याय का जन्मदिन था, संजय महानंद ने भंडारे का आयोजन किया जहां वे अपने जिगरी यार का बर्थडे मनाएं। इससे स्पष्ट होता है कि दोस्ती एक जीवन के बाद भी संगठित और प्यारपूर्ण रहती है। यह एक गहरा संबंध है जो अपने दोस्त के याद में उसकी महत्वपूर्ण घटना को याद करता है और उसे आदर्श मानवीय संबंध के साथ जीने की सिख देता है।

संजय महानंद के इन कर्मों से उजागर होता है कि वह एक सच्चा दोस्त है और वह अपनी दोस्ती को गहराई देते हैं। वे दोस्ती की प्रकृति को समझते हैं और उसे मानवीय तत्वों के माध्यम से निभाते हैं।

इस उदाहरण से स्पष्ट होता है कि असली दोस्ती के साथी हमारे जीवन के अंत तक बने रहते हैं और हमेशा हमारे दिल में बसे रहते हैं। वे हमारे साथ हर सुख और दुःख में होते हैं और हमारे जीवन को एक खुशहाल और संतुष्ट बनाते हैं। इसलिए, हमें अपने असली दोस्तों की कद्र करनी चाहिए और उनके साथ अपने जीवन का हर पल मनाना चाहिए। दोस्ती एक उपहार है जो हमें स्वीकार करना चाहिए और हमेशा उसे निभाना चाहिए। जैसा कि संजय महानंद ने दिखाया है, असली दोस्ती सम्पूर्णता और समर्पण की भावना से भरी होती है और हमेशा हमारे पास बनी रहती है।

निशांत उपाध्याय

कौन थे निशांत उपाध्याय?

छत्तीसगढ़ी फिल्मों के बेस्ट कोरियोग्राफर बेहतरीन एक्टर जिनकी कोरियोग्राफी का कोई तोड़ नहीं था इनके द्वारा कोरियोग्राफ किया हुआ गाना आज भी एक मिसाल है, और यही वजह है निशांत उपाध्याय जी को छत्तीसगढ़ी फिल्मों के रीड की हड्डी कहे जाते थे छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री में उनका स्थान कोई नहीं ले सकता एक महान कलाकार के साथ अच्छे इंसान और यारों का यार थे आज हमारे बीच यह नहीं हैं

लेकिन इनका जो योगदान है छत्तीसगढ़ी सिनेमा में उसको कभी भुलाया नहीं जा सकता इसलिए हर वर्ष इनका जन्मदिन धूम धाम से मनाया जाता है और छत्तीसगढ़ी फिल्म इंडस्ट्री के लोगों की जिम्मेदारी भी है की इन्हें जिंदा रखें भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के फेमस कॉमेडियन संजय महानंद ने बताया अगले वर्ष यह प्रोग्राम कुछ बड़ा होगा

मित्र के याद में नही बदला एक साल DP

भोजपुरी फिल्मों के सफल अभिनेता संजय महानंद जिनकी कामेडी का जोड़ नही उनके सबसे प्रिय मित्र निशांत उपाध्याय की असामयिक देहावसान हो गया जिनके वियोग में संजय एक साल तक अपने फेसबुक DP नही बदले, इन्होंने अपनी पीड़ा शेयर करते हुए लिखा – एक वर्ष पश्चात मैं अपनी प्रोफाइल फोटो बदल रहा हूं पिछले एक वर्ष से मेरी इस आईडी पर मेरे अजीज़ मित्र निशांत उपाध्याय की फोटो थी जो की मैने उसकी याद में रख रखा था

लेकिन बहुत से मित्र बड़े भाइयों पिता तुल्य गुरुओं का कहना था की अब अपनी प्रोफाइल से निशांत की फोटो हटा दो क्योंकि जब भी तुम्हारी आईडी से कोई नया पोस्ट आता है या कोई कॉमेंट आता है तब निशांत की फोटो देख कर मन दुखी हो जाता है दुखी होना लाज़मी भी है क्योंकि वे सभी निशांत से बहुत प्यार करते हैं उनका कहना भी सही है कि यह सत्य हमे स्वीकारना ही होगा की निशांत अब हमारे बीच नहीं रहा,

हां वो सदा हमारे दिलों में बसा है और सदा रहेगा उन सभी की भावनाओं का सम्मान करते हुए मैने यह प्रोफाइल फोटो बदलने का फैसला किया है निशांत मास्टर अपने अद्भुत कलाकारी अपने किए कार्यों के माध्यम से सदा जीवित रहेंगे,,,जय भोले,,,

तूझे भूल जाना यारा मुमकिन नहीं

 तू याद ना आए ऐसा कोई दिन नहीं,

मास्टर निशांत उपाध्याय आज एक वर्ष से ज्यादा वक्त गुजर गए हैं तुम्हें हमसे बिछड़े पर यकीन मान बाबा किसी ने भी तुझे अपने दिल से भुलाया नहीं है दोस्त भले तू आज हमारे साथ नहीं है पर तेरा जन्मदिन इस साल भी उसी तरह मनाया गया जैसा तू चाहता रहा है ईश्वर ने चाहा तो अगला जन्मदिन और भी अच्छा होगा यादगार होगा कल शाम बाबा हटकेश्वरनाथ महादेव घाट पर विशाल भंडारा किया गया तत्पश्चात शाम सात बजे श्याम टॉकीज हॉल में निशांत उपाध्याय का बर्थडे केक सेरेमनी रखा गया था

जिसमे छत्तीसगढ़ी सिनेमा के कई नामी हस्ती उपस्थित रहे मास्टर निशांत उपाध्याय के जन्मदिन को यादगार बनाने हेतु कार्यक्रम में पधारे आप सभी सम्मानिय हस्तियों का हृदय से आभार एवं मास्टर निशांत फाउंडेशन के सभी सदस्यों को बहुत बहुत बधाई आप सबके सहयोग से यह कार्यक्रम सफल हो पाया आशा करता हूं की आप सबका साथ सबका सहयोग सदैव निशांत फाउंडेशन को मिलता रहेगा love you all,,, जय भोले,,,

संजय महानंद की पहल पर बनी मास्टर निशांत फाउंडेशन

संजय महानंद की पहल पर दोस्तों का साथ मिला और मास्टर निशांत फाउंडेशन के माध्यम से निशांत की याद में सालाना यह कार्यक्रम करने का निर्णय लिया गया जिसमे सभी दोस्तों और निशांत के चाहने वालों का साथ मिला सबके सहयोग से ही यह हो पाया है आगे भी जो होगा मास्टर निशांत फाउंडेशन के सदस्यों और निशांत के चाहने वालों के सहयोग से ही होगा,जिसमे कुछ मुख्य सदस्यों के नाम

  1. संजय महानंद
  2. क्रांति दीक्षित
  3. संजू तांडी
  4. शैलेंद्र भट्ट
  5. नितिन उपाध्याय
  6. लाभांश तिवारी
  7. सतीश जैन
  8. मनोज वर्मा
  9. पूरन किरी
  10. मनीष मानिकपुरी
  11. चंदन दीप
  12. स्वर्णलाता महानंद
  13. इशिका यादव
  14. राखी सिंह
  15. सीमा सिंह
  16. रजनीश झांझी
  17. प्रदीप शर्मा
  18. रवि साहू
  19. उपासना वैष्णव
  20. तोरण राजपूत
  21. विलास राउत
  22. नीरज वर्मा
  23. भूपेंद्र चंदनिया
  24. मन कुरैशी
  25. शैल दीक्षित

और भी साथी हैं जो भले सामने नहीं आए पर मास्टर निशांत फाउंडेशन को पीछे से सहयोग करते आ रहे हैं

इसे भी पढ़िए –

Brijesh Jaiswal भोजपुरी सिनेमा जगत के पी आर ओ बृजेश जयसवाल हुए सम्मानित

Dev Raj Patel जानिए कैसे हुआ दुर्घटना देव राज पटेल का Top 10 News

 

Leave a ReplyCancel reply